स्वच्छ धन अभियान – 18 लाख पहचाने हुए कर निवेशकों की सूची में अपना नाम देखें

Share this Post on...
Share on Facebook
Facebook
Share on Google+
Google+
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on LinkedIn
Linkedin

काले धन को ट्रैक करने के लिए, केंद्र सरकार ने स्वच्छ धन अभियान शुरू कर दिया है। इस अभियान के तहत, ऐसे 18 लाख लोगों के नामों को सॉफ़्टवेयर के माध्यम से पहचाना गया है, जिनकी आय में उनकी कमाई और जमा पूंजी मेल नहीं खाते हैं। अब इन सभी लोगों को 10 दिनों के भीतर कर विभाग में इसके लिए अपनी कमाई जा जरिया बताना है।

स्वच्छ धन अभियान

सरकार ने डीमोनेटाइजेशन पर ऑनलाइन सत्यापन सॉफ्टवेयर बनाया है और इस सॉफ्टवेयर का नाम स्वच्छ धन अभियान रखा गया है। CBDT ने स्वच्छ धन अभियान सॉफ्टवेयर बनाया है। इस सॉफ्टवेयर में 18 लाख करदाताओं के नाम शामिल हैं और उनके खाते में गड़बड़ी हुई है। इन खातों में जमा उनकी प्रोफाइल से मेल नहीं खाता है। खातों में प्राप्त जमा और आय की मात्रा में एक बड़ा अंतर है।

इसलिए, इस सूची में 18 लाख ऐसे लोगों के नाम शामिल हैं। उन्हें 10 दिनों के भीतर स्वच्छ धन अभियान में इसके बारे में अपना जवाब देना होगा। ऐसे लोग कर विभाग को अपना जवाब ऑनलाइन दे सकते हैं। यदि आप 10 दिनों के भीतर जवाब नहीं देते हैं, तो नोटिस आपके खिलाफ भेजा जाएगा।

सूची में अपना नाम कैसे देखें

आयकर विभाग द्वारा बनाए गए विशिष्ट सॉफ़्टवेयर पर जाकर, आप सूची में अपना नाम देख सकते हैं। यहां कुछ सरल उपाय हैं –

  • सबसे पहले, आधिकारिक वेबसाइट यानी https://incometaxindiaefiling.gov.in/ पर जाएं।
  • उसके बाद, पोर्टल में लॉग इन करें।
  • अब, अनुपालन अनुभाग पर जाएं और नकद लेनदेन 2016 विकल्प पर क्लिक करें।
  • अब, आप सूची में अपना नाम देख सकते हैं।

ई-फाईलिंग पोर्टल पर ऑनलाइन प्रतिक्रिया सबमिट करने के लिए करदाताओं को ई-मेल और एमएमएस भेजा जाएगा।

ऑनलाइन प्रतिक्रियाओं को पेश करने में करदाताओं की सहायता के लिए पोर्टल पर एक विस्तृत उपयोगकर्ता मार्गदर्शिका और त्वरित संदर्भ मार्गदर्शिका उपलब्ध है। यदि ऑनलाइन प्रतिक्रिया सबमिट करने में कोई कठिनाई है तो आप हेल्पलाइन नंबर- 1800 4250 0025 पर कॉल करके हेल्पडेस्क से संपर्क भी कर सकते हैं।

Share this Post on...
Share on Facebook
Facebook
Share on Google+
Google+
Tweet about this on Twitter
Twitter
Share on LinkedIn
Linkedin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *